राहुल गांधी और सोनिया गांधी से पुछताछ के बाद "यंग इंडिया आफिस सिल", कांग्रेस नेता ने कहा "देश मे तानाशाही चल रहा हैं" !

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बुधवार को यंग इंडिया (Young India Sealed) कंपनी के एक हिस्से को सील कर दिया है. नेशनल हेराल्ड अखबार मामले से जुड़े कई ठिकानों पर मंगलवार, 2 अगस्त को छापेमारी करने के एक दिन बाद यह कार्रवाई हुई है.

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बुधवार को यंग इंडिया (Young India Sealed) कंपनी के एक हिस्से को सील कर दिया है. नेशनल हेराल्ड अखबार मामले से जुड़े कई ठिकानों पर मंगलवार, 2 अगस्त को छापेमारी करने के एक दिन बाद यह कार्रवाई हुई है.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ने कहा कि, कांग्रेस मुख्यालय और 10 जनपथ को पुलिस छावनी में बदलना अघोषित आपातकाल है. नेशनल हेराल्ड (यंग इंडियन) कार्यालय को जबरदस्ती सील कर दिया गया है. अगर जनता इस तानाशाही सरकार के खिलाफ कांग्रेस के साथ खड़ी नहीं हुई तो परिणाम पूरे देश को भुगतने होंगे.

समाचार एजेंसी पीटीआई के के अनुसार ईडी ने दिल्ली में नेशनल हेराल्ड कार्यालय में यंग इंडियन कंपनी के परिसर को 'सील' कर दिया है. यह कार्रवाई  सोनिया गांधी से 12 घंटे की पूछताछ के और राहुल गांधी से भी 56 घंटे की पूछताछ के बाद हुआ।

बता दें कि कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ के बाहर  पुलिस बल तैनात की गई है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने ट्वीट किया कि, "दिल्ली पुलिस द्वारा AICC मुख्यालय का रास्ता रोकना एक अपवाद के बजाय सामान्य बन गया है! उन्होंने ऐसा क्यों किया यह रहस्यमय है..."

जयराम रमेश ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि, कांग्रेस के कार्यलय की घेराबंदी की जा रही है. दिल्ली पुलिस ने हमारे मुख्यालय और कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व राष्ट्रपति के घरों को घेर लिया है. यह प्रतिशोध की राजनीति का सबसे खराब रूप है. हम चुप नहीं बैठें! हम मोदी सरकार के अन्याय और विफलताओं के खिलाफ आवाज उठाना जारी रखेंगे!

आपको बता दें कि 5 अगस्त को AICC ने  महंगाई, बेरोजगारी और खाद्य पदार्थों पर GST के खिलाफ देशव्यापी प्रदर्शन का सर्कुलर जारी किया है जिसमें राज्यों में राजभवनों, प्रदर्शन, सांसदों द्वारा राष्ट्रपति भवन और AICC की तरफ से कार्यकर्ता पीएम हाउस पर प्रदर्शन करेंगे।

विपक्ष के तरफ ये भी आरोप लगाया जा रहा है कि "महंगाई जैसी व्यापक समस्याएं से जनता के ध्यान भटकाने के लिए ये सब किया जा रहा है, लेकिन कांग्रेस आवाज उठाना बंद नहीं करेगा चाहे इसके लिए कोई भी मुल्य चुकानी पड़े।"