छपरा जिलें में जहरीली शराब पीने से हुई मौत को लेकर बोले मंत्री अशोक चौधरी, कहा- पीने वालें हैं दोषी

छपरा जिलें में जहरीली शराब पीने से अबतक 11 लोगों की हुई मौत, जबकि 17 से अधिक लोगों के आंख की रोशनी खत्म हुई। वही जहरीली शराब पीने से बीमार हुए दर्जनों लोग पीएमसीएच सहित तमाम अस्पतालों में भर्ती हैं। इसे लेकर बिहार सरकार के मंत्री अशोक चौधरी ने बयान दिया हैं। उन्होंने सरकार का बचाव करते हुए शराब पीने वाले लोगों को ही दोषी और अपराधी बता दिया हैं।

छपरा जिलें में जहरीली शराब पीने से हुई मौत को लेकर बोले मंत्री अशोक चौधरी, कहा- पीने वालें हैं दोषी

पटना : छपरा जिलें में जहरीली शराब पीने से अबतक 11 लोगों की हुई मौत, जबकि 17 से अधिक लोगों के आंख की रोशनी खत्म हुई। वही जहरीली शराब पीने से बीमार हुए दर्जनों लोग पीएमसीएच सहित तमाम अस्पतालों में भर्ती हैं। इसे लेकर बिहार सरकार के मंत्री अशोक चौधरी ने बयान दिया हैं। उन्होंने सरकार का बचाव करते हुए शराब पीने वाले लोगों को ही दोषी और अपराधी बता दिया हैं।

बता दें कि, भवन निर्माण विभाग के मंत्री अशोक चौधरी ने कहा है कि जब भी कोई नया कानून बनता हैं तो उसे पालन कराना सरकार के लिए बड़ी चुनौती होती है। और सरकार कानून बनाती है लेकिन कम समय में अधिक पैसा कमाने के चक्कर में लोग जान बूझकर उसका उल्लंघन करते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि, सरकार शराबबंदी कानून को सफल बनाने का लगातार प्रयास कर रही है लेकिन सिस्टम में कुछ वैसे लोग हैं जो नहीं चाहते हैं कि, ये कानून सफल बने। 

मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि,  ऐसे कई कानून हैं जो कि काफी पहले बनाए गए थे लेकिन आज भी लोग उसका उल्लंघन करते हैं। जिनमें डोरी एक्ट, आर्म्स एक्ट या बाल श्रम कानून शामिल हैं। उसी प्रकार से शराबबंदी कानून का भी लोग जान बूझकर उल्लंघन कर रहे हैं। 

मालूम हो कि, सरकार अपनी तरफ से पुरजोर कोशिश कर रही है। और किसी भी कानून को लागू कराना चुनौती के समान होता है। उन्होंने कहा कि, लोग जानते हैं कि हथियार रखना गैरकानूनी है फिर भी लोग हथियार की फैक्ट्री खोलकर बैठे हुए हैं। 

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि, इस मामले में जो भी लोग दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। पुलिस पर आरोप लगाते हुए मंत्री ने कहा कि, इतनी बड़ी घटना हो गई और कैसे  पुलिस को इसकी जानकारी नहीं हुई । इसकी जांच होनी चहिए।