बिहार मे कोरोना से मौत के नए पैटर्न से डॉक्टरों में हड़कंप

डॉक्टरों के मुताबिक उन मरीजों में कोई लक्षण नहीं दिख रहे हैं और अचानक से करोना कि पॉजिटिव रिपोर्ट आ रही है और फिर उनकी मौत हो जा रही है, पिछले 45 दिनों में ऐसे पैटर्न वालों में 15 लोगों की जानें जा चुकी हैं और डॉक्टर इन का पता लगाने में असफल हो जा रहे है.

बिहार मे कोरोना से मौत के नए पैटर्न से डॉक्टरों में हड़कंप

पटना : बिहार में बढ़ते कोरोनावायरस ने एक बार फिर से सभी को डरा दिया है पिछले 24 घंटे की बातचीत करें तो बिहार में कोरोना के लगभग 388 केस सामने आए है जिसमे पटना से कुल 138 मरीज है मरने वालो की संख्या अबतक 45 दिनों मे 15 लोगो मे दम तोड़ा है. लेकिन इन सभी मरने वालों मे सिर्फ एक ही तरिके से मौत के बाद डॉक्टरो को भी डरा दिया है.

 डॉक्टरों के मुताबिक उन मरीजों में कोई लक्षण नहीं दिख रहे हैं और अचानक से करोना कि पॉजिटिव रिपोर्ट आ रही है और फिर उनकी मौत हो जा रही है, पिछले 45 दिनों में ऐसे पैटर्न वालों में 15 लोगों की जानें जा चुकी हैं और डॉक्टर इन का पता लगाने में असफल हो जा रहे है. डॉक्टरों का कहना है कि वह किसी भी कोरोनावायरस के व्यक्ति के चपेट में नहीं आ रहे हैं और यहां तक कि उनके परिवार में भी कोई करो ना तो संस्कृत नहीं है फिर भी उनकी मौत इस तरीके से हो जा रही है.

सुपौल,मुजफ्फरपुर, पटना सहित कई ऐसे मरीज हैं जिनकी मौत हुई है और उनमें मौत का पैटर्न बिल्कुल वैसे ही है जैसे डॉक्टर से बता रहे हैं मरीजों के परिजनों के अनुसार जिन लोगों की मौत हुई है वह लोग करुणा के किसी भी लहर में चपेट में नहीं आए थे और अचानक से उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आती है और पोस्टिंग होने के बाद उनकी मौत हो जाती है.

 कोरोनावायरस इन मौत के पैटर्न के बाद डॉक्टर भी काफी चिंतित हैं और इस पैटर्न को फोन नहीं पकड़ पा रहे हैं. कई एक्सपर्ट ने बताया कि, कोरोनावायरस के बढ़ते रफ्तार से सचेत रहने की जरूरत है. मामले जिस तरिके से बढ़ रहे है और जो पैटर्न से मौत हो रही है ऐसे में खुद का ध्यान रखना बेहद जरूरी हैं।