राजधानी पटना में कांग्रेस द्वारा राजभवन मार्च को पुलिस ने बीच रास्ते में रोका, आक्रोशित कांग्रेसियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की..

राजधानी दिल्ली सहित देश के सभी राज्यों में कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला। वही, पटना में भी कांग्रेसी महंगाई के खिलाफ सड़क पर उतरे और केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोला।

राजधानी पटना में कांग्रेस द्वारा  राजभवन मार्च को पुलिस ने बीच रास्ते में रोका, आक्रोशित कांग्रेसियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की..

पटना : देश में तेजी बढ़ रही महंगाई के खिलाफ आज कांग्रेस कर रही देशव्यापी धरना प्रदर्शन। राजधानी दिल्ली सहित देश के सभी राज्यों में कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला। वही, पटना में भी कांग्रेसी महंगाई के खिलाफ सड़क पर उतरे और केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोला। इस दौरान राजभवन घेराव के लिए निकले कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बीच रास्ते में ही रोक दिया। जिसे लेकर पुलिस और कांग्रेस कार्यकर्ताओ के बीच जमकर नोकझोक हुई।

बता दें कि, प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता आज राजभवन मार्च के लिए निकले थे। हालांकि, राजभवन पहुंचने से पहले ही पुलिस ने उन्हें रोक दिया। जिसके बाद  आक्रोशित कांग्रेसियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। और प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि राज्य में अपराध चरम पर पहुंच गया है, अपराधी खुलेआम घुम रहे हैं लेकिन पुलिस के पास उन्हें पकड़ने के लिए समय नहीं है और जब कोई जनता की समस्या को लेकर आवाज उठाएगा तो उसपर कार्रवाई करने के लिए पुलिस आ जाती हैं।

मालूम हो कि, उन्होंने कहा कि, जब दूसरे दल के लोग मार्च निकालते हैं तो पुलिस उन्हें नहीं रोकती है लेकिन जब कांग्रेस जनता के मुद्दों को लेकर सड़क पर उतरती है तो सरकार के तरफ से लोगों की आवाज दबाने की जाती हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि, वो शांतिपूर्ण ढंग से राज्यपाल को ज्ञापन सौंपने के लिए जा रहे थे लेकिन बीच रास्ते में ही उन्हें रोक दिया गया। जबकि, क्षेत्र में न तो धारा 144 लागू है और ना ही कोविड की कोई बात है, फिर भी उन्हें रोक दिया गया।